Aadhar Card Kya Hai - आधार कार्ड क्या है

Aadhar Card Kya Hai - आधार कार्ड  क्या है
Aadhar Card Kya Hai - आधार कार्ड  क्या है 


Aadhar Card Kya Hai - आधार कार्ड  क्या है।

आधार कार्ड केंद्र सरकार की ओर से हर नागरिक को जारी किया जानेवाला एक आई कार्ड है । इसकी शुरुआत 28 जनवरी , 2009 को हुई । इस पर सोलह अंकों का उस नागरिक का एक यूनिक नंबर लिखा होता है । आधार कार्ड आज देश के हर नागरिक के लिए काफी महत्त्वपूर्ण हो गया है । भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने आकर्षक नारे दिए हैं - ' खाते में सीधे पहुँचे भुगतान , आधार बनाए जीवन आसान । ' मेरा आधार मेरी पहचान । ' बैंकों सहित अन्य कार्यों के लिए आधार कार्ड आज जरूरी होता जा रहा है । वर्तमान में राशन , रसोई गैस सब्सिडी ,पेंशन , मनरेगा , जन - धन योजना एवं भविष्य निधि से संबंधित कार्य आधार के माध्यम से आसानी से हो पा रहे हैं । आधार को बैंक खातों से जोड़कर सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे बैंक खाते में प्राप्त किया जा सकता है । बैंक में खाता खोलने , पासपोर्ट लेने या ड्राइविंग लाइसेंस लेने समेत अन्य कार्यों के लिए जरूरी हो रहा है । आधार कार्ड धीरे - धीरे सभी सरकारी योजनाओं के लिए जरूरी दस्तावेज बनता जा रहा है । चाहे गैस सब्सिडी हो या फिर गाड़ी खरीदना या फिर पासपोर्ट बनवाना , आधार कार्ड को सरकारी कामों के लिए जरूरी दस्तावेज बनाए जाने की कवायद जोरों पर है । यह कार्ड एक ही बार बनाना होता है । किसी भी काम , जिसमें पहचान की जरूरत होती है , इस कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकता है । इस कार्ड से किसी की डेमोग्रैफिक ( जनसंख्या संबंधी ) डिटेल्स मिल सकती है । आधार कार्ड को पहचान - पत्र के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है । सर्विस लेने से पहले हर बार पहचान के तौर पर डॉक्युमेंट्स की कॉपी देने के झंझट से भी निजात मिल जाती है । पहचान की प्रक्रिया भी आसान हो जाती है । कहीं भी , कभी भी , किसी भी स्तर पर पहचान एक डेटाबेस से हो जाती है । आधार कार्ड  अगर आप के पास है तो आपको को कोई भी दूसरा  डॉक्युमेंट कही भी देने की जरूरत नहीं पड़ती है । अगर आप के पास आधार कार्ड है ' नो योर कस्टमर ' की प्रोसेस को भी  बार - बार नहीं दोहराई जाएगी ।

benefit/फायदे:-


देश के गरीब तबके के लोग काम की तलाश में जगह - जगह जाते रहते हैं और उन लोगो के पास अपनी पहचान बताने का कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं होता है । आधार कार्ड से वे बैंक में अपना खाता खुलवा सकते हैं । बिना बिचौलिए के अपना पैसा खुद निकलवा सकते हैं । रोजगार के लिए खुद को रजिस्टर्ड करवा सकते यह कार्ड हमेशा बनता रहता है । कभी भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं । सामान्य प्रक्रिया के तहत इनरॉलमेंट होने के 60 से 90 दिनों में कार्ड मिल जाना चाहिए । कार्ड भेजने की जिम्मेदारी पोस्टल डिपार्टमेंट की होती है ।


Card making/कार्ड बनवाना:-


आधार कार्ड बनवाने के लिए आपको अपने नजदीक , जो भी आधार कार्ड बनाने का ऑफिस हो , वहाँ जाना होगा । इसके लिए कई बार कुछ खास कैंप भी लगाए जाते हैं , जिनमें जाकर आप आधार कार्ड बनवा सकते हैं । एक व्यक्ति के आधार कार्ड की काररवाई पूरी करने में लगभग 10 मिनट से 20 मिनट तक का समय लगता है । आधार कार्ड बनवाने के लिए आपको कुछ जानकारियाँ भी देनी होती हैं ।


वहाँ जाने के बाद आपको निम्नलिखित जानकारियाँ देनी होंगी:-


• आधार कार्ड बनवाने के लिए सबसे जरूरी होती है आपकी तसवीर , जो सेंटर पर ही खींची जाती है । आपकी उँगलियों की छाप भी ली जाती है । आधार कार्ड को सुरक्षा की दृष्टि से और अधिक प्रभावी बनाने के लिए सेंटर पर ही आपका रेटिना स्कैन किया जाता है ।


• अपनी पहचान और अपने पते के प्रमाण के तौर पर भी डॉक्युमेंट को आधार सेंटर पर लेकर जाना होता  हैं । इनमें पहचान के प्रमाण के तौर पर आपका पैन कार्ड , वोटर आईडी कार्ड या पासपोर्ट ले जाना होगा । वहीं पते के प्रूफ के लिए वोटर आईडी कार्ड , पासपोर्ट , राशन कार्ड , बिजली या पानी का बिल काम आ सकता है । आपसे सारी जानकारियाँ ले लेने के बाद आपको एक एनरॉलमेंट नंबर दे दिया जाता है , जिसके आधार पर आप अपने आधार कार्ड का स्टेट्स भी जान सकते हैं । एनरॉलमेंट नंबर मिलने के कुछ दिनों बाद आधार कार्ड पोस्ट द्वारा आपके घर आता है यह कार्ड मुफ्त में बनता है । आधार कार्ड बनवाने के लिए अगर पहचान और पते के सबूत के तौर पर आपके पास पैन कार्ड , राशन कार्ड , बिजली बिल , वोटर कार्ड या पानी का बिल आदि में से कुछ भी न हो तो गजेटेट ऑफिसर , एम.एल.ए. , एम.पी. , मेयर आदि से आवेदन प्रमाणित कराया जा सकता है दिए गए फॉर्म में आपसे जुड़ी हर सूचना भरने के बाद वहीं के वहीं आप उसे जाँच भी सकते हैं और जरूरत पड़ने पर उसे ठीक भी करवा सकते हैं । आखिर में आपको इनरॉलमेंट नंबर दिया जाता ।


Information correction/जानकारी ठीक कराना:-


कई बार आधार कार्ड में आपकी जानकारी गलत दर्ज हो जाती है । मिसाल के तौर पर आपका नाम गलत लिखा होना , पिता का नाम गलत होना , गलत पता , जन्म दिनांक का गलत होना , और भी कई गलतियाँ देखने में आती हैं । गलत जानकारी होने पर आप को मिलने वाले फायदों से रोका जा सकता है । इसलिए गलतियों को फौरन ऑन लाइन या डाक से ठीक कराएँ ।


How to download aadhaar card/आधार कार्ड को कैसे डाउनलोड करे:-


सबसे पहले आपको को आधार के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होता है। वहां पर आपको गेट आधार का सेक्शन देकने को मिलता है

गेट आधार में ही आपको डाउनलोड आधार का आप्शन भी है

डाउनलोड आधार पर क्लीक करने के बाद एक न्यू पेज ओपन होगा वहां पर अगर आपके पास आधार नंबर है तो उसको फिल कर सकते है, अगर आपके पास आधार नंबर नही है तो आप एनरोलमेंट नंबर और डेट , टाइम को फिल कर के नीच कैप्चा कोड को फिल कर के सेंड ओटिपी पर क्लीक कर दे।


ओटिपी को फिल कर के डाउनलोड आधार पर क्लीक कर दे  और आपका आधार कार्ड डाउनलोड हो जायेगा

आधार कार्ड को ओपन करने के लिये आप अपने नाम के पहेल चार अक्षर को और डेट ऑफ़ बर्थ के इयर को भरकर आधार को ओपन कर सकते है।


जैसे कि अगर आपका नाम RAM KUMAR है आपकी डेट ऑफ़ बर्थ  01-01-1993 है तो आप पासवर्ड फिल करेंगे RAMK1993